Posts Tagged ‘हिंदी’

जय भारती! जय भारती!

सितम्बर 13, 2009

प्रयोग की शक्ति प्रचार से अधिक है। प्रचार योजनाबद्ध और बोझिल होता है जबकि प्रयोग सरल और स्वतः होता है।
हिंदी – आम-आदमी की भाषा है। अनपढ़ गंवार की भाषा है। पर जब उसे नामी लोग बोलते हैं तो हिंदी की इज़्ज़त हो जाती है। वरना तो..
थोड़े को बहुत समझना नहीं तो यह, यह और वह भ्री पढ़ लेना 🙂