Posts Tagged ‘कैलाश-मानसरोवर यात्रा’

कैलाश-दर्शन

जुलाई 21, 2010

कैलाश-पर्वत के दर्शन करते समय जो अनुभव होता है वह शब्दों में कहना कठिन है।
धवल-हिम से ढके कैलाश के चरण-स्पर्श करते समय मन अलौकिक भाव से भर जाता है।
दिव्य शांति मन को तृप्त कर देती है। वाणी स्वतः शांत हो जाती है। हम किसी शक्ति का अनुभव करते हैं।

कैलाश की परिक्रमा करते समय डेरापुख से कैलाश के चरण-स्पर्श करने के लिए कठिन चढ़ाई करनी पड़ती है। कोई रास्ता नहीं है। कभी मोटे पत्थरो और चट्टानो पर तो कभी ग्लेशियर पर चलते हुए ढ़लानो पर फिसलने का डर भरे हुए चले जाते हैं पर चरण-स्पर्श पर पहुँच कर सब भूल जाते हैं।