वृषलग्न (ज्योतिष- २३)

taurus.jpg

वृषलग्न का जातक या जातिका हठ करने वाला परंतु आसानी से नियँत्रण में आ जाने वाला, पूर्वाग्रही और अत्यधिक परिश्रम करने वाला होता है। उसका कद औसत या उससे कम, भारी शरीर, रंग गेहुँआ  और बलशाली होता है। इस लग्न वाले व्यक्ति के जीवन का प्रथम एक तिहाई जीवन तो श्रम में जाता है, बाद का दो तिहाई अपेक्षाकृत सुखी होता है। त्यागी क्षमाशील और सहिष्णु होता है। कभी गुस्सा आ जाए तो संभलना मुश्किल हो जाता है। अक्सर इनकी पीठ/चेहरे/ या कंख में कोई निशान होता है। ये आमोद-प्रमोद के शौकीन होते हैं। इनके व्यक्तित्त्व में आकर्षण होता है। ये राशि कालपुरुष की वाणी को इंगित करता है।

3 Responses to “वृषलग्न (ज्योतिष- २३)”

  1. Dr Desh Bandhu Bajpai Says:

    main meen lagna ka jatak hun. mera nymber kab aayega. Brakh meri chandra rashi hai. kya mere se yah match karega.

  2. pasand Says:

    धन्यवाद तिवारी जी!

  3. Sanjeeva Tiwari Says:

    बधाई ! बहुत अच्‍छा प्रयास कर रहे हैं, हमारी शुभकामनायें ।
    “आरंभ” संजीव का हिन्‍दी चिट्ठा

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: