आम-जीवन (१)

आम-जीवन

(१)

आम जीवन में हम सभी अपने मन और शरीर को ठीक रखना चाहते हैं, परंतु कुछ बातों पर हमारा ज़ोर नहीं चलता है। आजकल के व्यस्त जीवन में संतुलित खाना और शरीर की ज़रुरत के अनुसार खाने की चीजों का चुनाव करना शिक्षित समाज को बहुत अच्छी तरह से आता है, परंतु समय का क्या करें वह तो सीमित है। कार्य-समय इतना ज़्यादा होता है कि लोग चाहकर भी अपने लिए वह नहीं कर पाते हैं जो आसानी से कर सकते हैं। मैं यहाँ कुछ बातें लिख रही हूँ जिनसे मैं ने लोगों को लाभान्वित होते देखा है।
आँवला: आँवले से हर व्यक्ति परिचित है और उसके गुणों को भी बख़ूबी जानता है, फिर भी सेवन करने में नियमित नहीं हो पाता है।
हम सभी जानते हैं आँवला यूँ तो बारहमास मिल जाता है परंतु सर्दी में ही इस पर फल आते हैं। आजकल बाज़ार में ताज़ा और रसीला आँवला आसानी से और सस्ते दाम में मिल रहा है। यदि प्रतिदिन दो कच्चे आँवलों का सेवन निराहार किया जाए तो-
– जिनको ज़ुकाम खांसी या गला जल्दी-जल्दी खराब होने की परेशानी से जूझनना पड़ता इससे उन्हें या तो पूरी तरह निज़ात मिल जाएगी या फिर बहुत कम शिकायत रहेगी। लेकिन यह स्वस्थ व्यक्ति को सेवन करना चाहिए। बीमार को तो हमेशा अपने निजी-डॉक्टर से ही सलाह करनी चाहिए।
कच्चा आँवला खाना कुछ लोगों को भाता नहीं है। कुछ कड़वा कहते हैं तो कुछ खट्टा! इसका सीधा सरल उपाय है कि रात को आँवलों को धोकर छोटा-छोटा काटकर आधे गिलास उबले हुए (ठंडॆ) पानी में कांच के गिलास में ढ़ककर रख दें और सुबह निराहार उस पानी को पी जाएं। ऐसा लगातार नियमित रुप से करने से इतने अधिक फायदे होते है कि यहाँ गिनाना भी मेरे लिए संभव नहीं है। फिर भी कुछ लिख रही हूँ:
– विटामिन ‘सी’ और कैलशियम की कमी समाप्त हो जाएगी जिससे बालों का झड़ना और टूटना समाप्त हो जाएगा साथ ही बालों में चमक और सुंदरता बढ़ जाएगी। इतना ही नहीं ज़्यादा समय तक सेवन करने से बाल काले तो बने ही रहेंगे साथ ही सफेद बाल भी काले हो जाएंगे।
– दाँतों के लिए भी यह अमृत है। मेरे नानाजी जिनका निधन आज से साठ साल पहले नब्बे साल की आयु में हुआ था उनके दांत कभी ख़राब नहीं हुए और तीसरी बार उग आए थे। वे जीवन-पर्यंत प्रतिदिन आँवले का सेवन करते रहे। उन्हें कभी कोई बीमारी नहीं हुई।
शेष फिर कभी।

3 Responses to “आम-जीवन (१)”

  1. प्रभाकर पाण्डेय Says:

    बहुत ही अच्छी जानकारी ।

  2. Udan Tashtari Says:

    आज से आँवला खाना शुरु. बहुत धन्यवाद सलाह के लिये.🙂

  3. Divine India Says:

    aam jivan me hum in hi paddhatiyon se lambaa safar taye kiya jaa sakata hai.salah ke liye very-2 thnx.u r really given very right script to the complex world.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: